नई दिल्ली. बिहार में पार्टी की हार पर बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के आलोचना करने के बाद टीम मोदी के नेताओं की तरफ से भी जवाबी हमले लगातार जारी हैं. इस बार केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने अपनी आपत्ति दर्ज़ कराते हुए कहा कि इन नेताओं को सार्वजनिक रूप से मुद्दा नहीं उठाना चाहिए था बल्कि पार्टी में उठाना चाहिए था.
 
बिहार में हार पर उठाए थे सवाल
दो दिन पहले बीजेपी के चार बड़े नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यशवंत सिन्हा और शांता कुमार ने सीधे-सीधे शीर्ष नेतृत्व पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा कि पार्टी को कमज़ोर किया गया. आम राय की अनदेखी की गई और दिल्ली के नतीजों से सबक नहीं लिया गया इसलिए बिहार में हारे. नायडू ने कहा कि वरिष्ठ नेताओं के बयान को को गंभीरता से लिया है, लेकिन उन्हें पार्टी फोरम में बात करनी चाहिए थी.
 
जोशी से मिले अरुण जेटली
वरिष्ठ नेताओं के बयान के बाद वित्तमंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को मुरली मनोहर जोशी से भी मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक, जेटली ने इस मुलाकात में कहा कि हर बात को पार्टी फोरम पर उठाया जाना चाहिए, ऐसे मीडिया में चर्चा पार्टी के लिए ठीक नहीं है.