नई दिल्ली. एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में चीन के मुकाबले भ्रष्टाचार कम है. भ्रष्टाचार निरोधक संस्था ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल  ने 175 देशों का अध्ययन किया जिसमें भारत को 85वां स्थान दिया गया, वही चीन को 100वें स्थान पर रखा गया है. हालांकि ये अंतर ज्यादा नहीं है लेकिन भारत में करप्शन चीन के मुकाबले कम आंका गया है. बता दें कि संस्था के विशेषज्ञों की राय पर दुनिया भर में व्याप्त भ्रष्टाचार के स्तर को आंका जाता है. 
 
ऐसे आंका गया स्तर
 
खबरों के अनुसार 100 तक की रेटिंग में भारत ने 38 अंक स्कोर किए हैं, वहीं चीन ने 36 का आंकड़ा छुआ है. संस्था का कहना है कि किसी भी देश ने एकदम आदर्श स्कोर हासिल नहीं किया है और 0 (सबसे ज्यादा भ्रष्ट) से 100 (एकदम साफ छवि) के स्केल के बीच दो तिहाई से ज्यादा देश ने 50 से कम ही स्कोर किया है.
 
पीएम मोदी बोले रैकिंग पर
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ये रैकिंग बताती है कि भारत धीरे-धीरे भ्रष्टाचार से दूर हो रहा है. मोदी ने कहा कि 17 महीने पहले सत्ता को हाथ में लिया था उससे पहले दुनिया भर में भारत को नजर अंदाज किया जाता था. आज भारत चीन की बराबरी तो कर ही रहा है साथ ही कई मामलों में पीछे छोड़ रहा है. मोदी ये भी बोले कि भारत चीन से कम भ्रष्ट है ये वाक्ये में बड़ी बात है. 
 
बता दें कि बीते कुछ समय पहले पीएम मोदी को भी फोर्ब्स पत्रिका ने विश्व के सबसे शक्तिशाली लोगों की लिस्ट में नौवें स्थान पर रखा गया है.