गुवाहाटी. असम में कांग्रेस के नौ विधायकों ने शुक्रवार को बीजेपी का दामन थाम लिया है. संकेत इस बात के भी हैं कि 2016 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के और भी विधायक बीजेपी में शामिल होंगे. इन विधायकों ने दो माह पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी. बीजेपी के असम मामलों के प्रभारी राम माधव ने विधायकों का पार्टी में स्वागत किया. इन विधायकों में जयंत मल्ल बरुआ, पीयूष हजारिका, राजन बोरठाकुर, पल्लब लोचन दास, अबु ताहिर बेपारी, बिनादा सैकिया, बोलिन चेतिया, प्रदान बरुआ और कृपानाथ मल्ल शामिल हैं.
 
राम माधव ने नौ विधायकों को पार्टी में स्वागत करते हुए कहा कि असम की राजनीतिक स्थिति बहुत तेजी से बदल रही है. बीजेपी की ओर लोग तेजी के साथ आकर्षित हो रहे हैं और लोग कांग्रेस से असंतुष्ट हैं. उन्होंने कहा कि जिस किसी भी व्यक्ति के दिल में विकास की भावना होगी, वह बीजेपी में शामिल होगा.
 
भाजपा नेता ने कहा, ‘असम के मुख्यमंत्री को पता है कि वह हार रहे हैं. इसलिए वह सभी को राजी करने की बात कह रहे हैं. वह (गोगोई) अखिल भारतीय संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा की गोंद में बैठे हुए हैं और हमें सांप्रदायिक बता रहे हैं. गोगोई असम को बांग्लादेशियों को देने को तैयार हैं. शर्मा ने नागांव जिले में कहा कि असम के लगभग 80 फीसदी कांग्रेसी नेता दिसंबर-जनवरी तक बीजेपी में शामिल हो जाएंगे.