मुंबई. इंडोनेशिया के बाली में गिरफ्तार अंडरवर्ल्ड माफिया डॉन राजेंद्र निखलजे उर्फ छोटा राजन के खिलाफ मामलों को सीबीआई को सौंपने के फैसले की शुक्रवार को राजनीतिक पार्टियों ने आलोचना की. कांग्रेस व राकांपा ने कहा कि इससे मुंबई पुलिस का मनोबल टूटेगा.
 
मुंबई कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष संजय निरूपम ने कहा कि पहले शीना बोरा हत्याकांड की जांच और अब छोटा राजन से संबंधित मामलों को महाराष्ट्र ने सीबीआई को सौंप दिया. यदि इन सारे मामलों से सीबीआई निपटेगी, फिर मुंबई पुलिस क्या करेगी. उन्होंने महाराष्ट्र सरकार से इस फैसले पर दोबारा विचार करने का अनुरोध किया है.
 
 
वहीं राकांपा के प्रदेश प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि केवल तीन दिन पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ-साथ मुंबई पुलिस आयुक्त अहमद जावेद ने आश्वस्त किया था कि छोटा राजन को मुंबई लाया जाएगा. सभी महत्वपूर्ण मामलों की जांच क्या सीबीआई करेगी. क्या उन्हें हमारी पुलिस की क्षमता पर संदेह है? यह मुंबई पुलिस के मनोबल को गिराता है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है, इससे लोगों के बीच गलत संदेश जाएगा.
 
 
बता दें कि शुक्रवार को छोटा राजन के भारत लाए जाने से पहले महाराष्ट्र के अतिरिक्त मुख्य सचिव के.पी.बख्शी ने गुरुवार शाम राजन के खिलाफ सभी मामलों को सीबीआई को सौंपने की घोषणा की है.