नई दिल्ली. बॉलीवुड के स्टार अभिनेता शाहरुख खान को ‘देशद्रोही’ बताने वाले बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपना ट्वीट वापस ले लिया है. हालांकि वे अपने स्टैंड पर कायम हैं और उन्होंने माफी मांगने से साफ़ इंकार कर दिया है. विजयवर्गीय ने कहा कि उनका मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था और वह अपना बायान वापस लेते हैं.
  
बता दें कि शाहरुख के ये कहने पर कि देश में असहिष्णुता का माहौल बढ़ रहा है विजयवर्गीय भड़क गए थे और उन्होंने कहा था कि शाहरुख़ रहते भारत में हैं लेकिन उनका दिल पाकिस्तान में बसता है.
 
 
अपने कल के बयान को वापस लेते हुए विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, “मेरा उद्देश्य किसी को भी ठेस पहुंचाना कतई नहीं था. मैं अपना कल का ट्वीट वापिस लेता हूं.” हालांकि, विजयवर्गीय ने एक बार फिर दोहराया कि अगर भारत में असहिष्णुता होती तो शाहरुख खान स्टार अभिनेता नहीं होते.
 
अपने तर्क को पुख्ता करते हुए विजयवर्गीय ने ट्वीट किया , “अगर भारत में असहिष्णुता होती तो अमिताभ के बाद सर्वाधिक लोकप्रिय अभिनेता शाहरुख़ न होते, मेरे ट्वीट को कुछ लोगो ने अलग अर्थो में लिया है.” इससे पहले, विजयवर्गीय ने एक के बाद एक चार ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने शाहरुख खान पर गंभीर आरोप लगाए थे. विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा था, ‘शाहरुख़ खान रहते भारत में हैं पर उनका मन सदा पाकिस्तान में रहता है. उनकी फिल्मों यहां करोड़ो कमाती है पर उन्हें भारत असहिष्णु नजर आता है.’