नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने पढ़ाई, ट्रेनिंग या ड्यूटी पर विदेश गए अधिकारियों के समय पर वापस नहीं लौटने पर कड़ा रुख अपनाते हुए तय किया है कि निर्धारित समय के एक महीने बाद तक वापस नहीं लौटने वाले अधिकारियों की नौकरी खत्म करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी.
 
सूत्रों का कहना है कि इस समय करीब एक दर्जन IAS अधिकारी विदेश में अपना काम खत्म होने के बाद भी डटे हुए हैं और वापस नहीं लौट रहे हैं. सरकार की परेशानी ये है कि निर्धारित समय के बाद ये अधिकारी अपनी मर्जी से विदेश में रुके रहते हैं और अवैध छुट्टी पर चले जाते हैं.
 
केंद्र सरकार ने एक नया दिशा-निर्देश बनाया है जिसके मुताबिक अपना काम खत्म होने के एक महीने के अंदर नहीं लौटने वाले नौकरशाहों को उनके कैडर की राज्य सरकारें नौकरी खत्म करने का नोटिस जारी करेंगी. केंद्र ने कहा है कि ऐसे अधिकारियों की नौकरी खत्म करने की प्रक्रिया तीन महीने में पूरी हो जानी चाहिए.
 
केंद्र सरकार ने राज्यों को साफ-साफ कह दिया है कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने में अगर राज्य ढिलाई बरतेंगे तो केंद्र सरकार अपने स्तर पर ऐसे अधिकारियों के खिलाफ नौकरी खत्म करने की प्रक्रिया शुरू कर देगी.