मुंबई. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि पर्यटन को बढ़ावा देने वाली सरकार की योजनाओं में किसी भी विरोधी इतिहासकार और एक्टिविस्ट को रूकावट डालने की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि अगर ऐसे लोग उनके पास कोई शिकायत लेकर आते हैं तो हम उन्हें बाहर फेंक देंगे.
 
गडकरी का कहना है कि जब किसी पुरानी इमारत का रंग छूटने लगता है तब तो ऐसे इतिहासकार कुछ नहीं बोलते लेकिन अगर इन्ही इमारत पर कोई नया रंग कर दो तो ये सवाल खड़े करने लगते हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में इस तरह के लोगों की कोई जरूरत नहीं है. 
 
उन्होंने कहा कि हम ऐसे लोगों का मूंह बंद करने में भी सक्ष्म हैं. ऐसे लोग मौकों को परेशानी में बदल देते हैं. गडकरी का कहना है कि जब वो महाराष्ट्र के लोक निर्माण मंत्री थे तब ऐसे लोगों से वो बहुत परेशान हो गए थे. 
 
लाइटहाउस को करेंगे विकसित
 
गडकरी ने कहा कि भारत ने समुद्री किनारों पर मौजूद अपने 189 में 78 लाइटहाउस को पर्यटन के लिहाज से विकसित करने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि दुनियाभर में लाइटहाउस अपने सौंदर्य, शांत वातावरण और बहुमूल्य समुद्री विरासत के चलते पर्यटकों को रोमांचित करते है. देश में पर्यटन के लिहाज से तमाम ऐसी संभावनाएं हैं, जिनका अब तक इस्तेमाल नहीं किया गया है.