नई दिल्ली. दिल्ली सरकार द्वारा दशहरा के दिन लाल किला से इंडिया गेट तक चलाए गए ‘कार फ्री डे’अभियान के कारण दिल्ली के प्रदूषण में 60 प्रतिशत तक की कमी दर्ज की गई है. इस बारे में सीएम केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली के प्रदूषण में यातायात एक बड़ी भूमिका निभाता है और इसे कम करने के लिए बेहतर पब्लिक ट्रांसपोर्ट की जरुरत है. उन्होंने दावा किया कि ‘कार फ्री डे’ ने दिल्ली के प्रदूषण को 60 प्रतिशत तक कम कर दिया है. 
 
आपको बता दें कि पर्यावरण से जुड़े संगठनों ने भी इससे मिली जुली प्रतिक्रिया दी है. सेंटर फॉर साइंस एंड इनवायरमेंट ने दावा किया है कि ‘कार फ्री डे’के चलते दिल्ली के प्रदूषण में भारी कमी देखी गई है जबकि ग्रीनपीस इंडिया ने एक प्रतीकात्मक पहल बताया है.
 
केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि ‘कार फ्री डे’के कारण प्रदूषण में करीब 60 फीसदी की कमी आई आना इसका मतलब है कि ट्रैफिक इसमें अहम भूमिका निभाता है. हमें ट्रैफिक को घटाना होगा. ‘आरामदायक, भरोसेमंद, पहुंच के दायरे वाली पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम और अच्छी तरह से डिजाइन की गई सड़कें इसके लिए जरूरी हैं. मैं व्यक्तिगत रुप से इस पर काम करूंगा.’ 
 
सीएसई ने कि एक रिपोर्ट में कहा गया कि‘लाल किला से इंडिया गेट तक कार फ्री डे के दौरान महीन प्रदूषणकारी कणों के स्तर में काफी कमी पाई गई है. यहां पर कल शाम में हुए प्रदूषण के स्तर में 60 फीसदी कमी पाई गई है.’इसमें कहा गया है कि पीएम 2.5 (महीन कण) में 45 फीसदी की कमी दर्ज की गई.
 
वहीं सीएसई के निदेशक अनुमिता राय चौधरी ने कहा कि दिल्ली सरकार के द्वारा चलाए गए इस अभियान ने यह साबित कर दिया कि दिल्ली में प्रदूषण को बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण कारों की बढ़ती संख्या है.