नई दिल्ली.  त्यौहारों का सीजन सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी ले कर आया है. केंद्र सरकार ने बोनस को देखते हुए मासिक वेतक की अधिकतम सीमा 3500 से बढ़ाकर 7000 रुपए प्रति महीना करने की इच्छा बना ली है. जल्द ही संबंधित विधेयक को संसद में पेश किया जाएगा. बता दें कि 1965 के बोनस एक्ट के तहत 10 हजार रुपये तक का वेतन पाने वाले कर्मचारियों को ही 3500 रुपये तक का बोनस दिए जाने का प्रावधान है लेकिन नए संशोधन के तहत इस सीमा को 10 हजार से बढ़ाकर 21 हजार करने की सिफारिश की गई है.
 
ये है संशोधन
1 अप्रैल 2015 से प्रभावी बनाने की उम्मीद में ये विधेयक बहुत जल्द संसद में पेश किया जाएगा जिसके अनुसार बोनस कानून उन सभी संस्थानों पर लागू होता है जहां 20 से ज्यादा लोग काम करते हैं.  सूत्रों के मुताबिक किसी कर्मचारी का वेतन 3500 रुपए प्रति महीना से ज्यादा हो तब भी उसका न्यूनतम बोनस 3500 रुपये ही होता है लेकिन बहुत जल्द इसे दुगना कर दिया जाएगा जिसकी राशि 7 हजार तक बताई जा रही है.