नई दिल्ली. खुदरा बाजार में दाल की कीमतें अब 200 रूपए प्रति किलो पहुंच गई है.  सरकार अब बढ़ी कीमतों को काबू में करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय बाजार से 3000 टन और दालों का आयात करेगा.
 
खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, कि सरकार 2,000 टन तुअर दाल और 1,000 टन उड़द दाल का और आयात करेगी. कोयला, लौह अयस्क और अन्य औद्योगिक उत्पादों के व्यापार को संचालित करने वाले मेटल एंड मिनेरल्स ट्रेडिंग कारपोरेशन (एमएमटीसी) द्वारा इस बारे में जल्द ही निविदा आमंत्रित की जाएगी.
 
इससे पहले 15000 टन दालों (उड़द और तुर) के आयात के लिए निविदाएं आमंत्रित की गई थीं. घरेलू बाजार में इन दालों का आना शुरू भी हो गया है.समीक्षा बैठक में सिन्हा ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की और भंडारण सीमा जैसे मुद्दों पर राज्य सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों के बारे में पूछा.
 
बयान में कहा गया, ‘राज्यों से कहा गया है कि वे औचक निरीक्षण और छापा मारकर दालों की जमाखोरी और कालाबाजारी पर लगाम लगाएं.’कैबिनेट सचिव ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के सभी 400 केंद्रीय भंडार और सफल दुकानों से आयातित दाल की बिक्री तुरंत शुरू करने के लिए कहा.