मुरैना. मध्य प्रदेश के जोरा गांव(मुरैना जिले) में बोरवेल में गिरे एक बच्चे को 40 घंटे के बचाव अभियान के बावजूद नहीं बचाया जा सका. बच्चे को सोमवार रात बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.
 
मुरैना के पुलिस अधीक्षक विनीत खन्ना ने बताया कि बागचीनी थानाक्षेत्र के नंद गंगोली गांव निवासी देवेंद्र शर्मा का बेटा राघव (3) रविवार सुबह अपनी दादी के साथ खेत में गया था. खेत में खेलते समय वह बोरवेल में गिर गया था. उसे सुरक्षित बाहर निकालने के लिए सेना की मदद से बचाव अभियान चलाया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.
 
चिकित्सकों के अनुसार, राघव को जब बोरवेल से बाहर निकाला गया उससे पहले ही वह दम तोड़ चुका था. बोरवेल 100 फुट से ज्यादा गहरा बताया जा रहा है. बच्चा लगभग 60 फुट की गहराई में फंसा हुआ था.
 
IANS