मुंबई. रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने केंद्र सरकार को चेताते हुए कहा है 9 फीसदी विकास दर के लिए सरकार लोकलुभावन नीतियों के बजाय निवेश और आपुर्ति में सुधार करे, ताकि मांग बढ़ाई और देश की अर्थव्यवस्था में सुधार लाया जा सके.

रघुराम राजन ने टैक्सेशन को ज्यादा पारदर्शी बनाने पर भी जोर दिया है. उन्होंने टैक्स के मामले में ऐसी व्यवस्था की वकालत की है. जिसमें किसी भी भ्रम की गुंजाइश न रहे. राजन के मुताबिक ऐसा करके देश में विदेशी पूंजी की आमद बढ़ाई जा सकती है, जो अर्थव्यवस्था की मजबूत ग्रोथ के लिए जरूरी है.

कुछ दिन पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी अनुकूल टैक्स प्रणाली की जरूरत पर जोर दिया था. उन्होंने अगले वित्त वर्ष से चार साल के भीतर कॉर्पोरेट टैक्स धीरे-धीरे घटाकर 25 फीसदी करने का वादा किया है, जो फिलहाल 34 प्रतिशत है.