श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में सिखों के एक संगठन ‘गुरमत टकसाल जे एंड के’ ने पंजाब प्रांत में गुरु ग्रंथ साहिब को अपवित्र करने के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. 
 
‘गुरमत टकसाल’ के प्रमुख सुखबीर सिंह ने कहा, ‘गुरु ग्रंथ साहिब के पन्नों को फाड़ना और उनका अपमान करना अब बेहद आम हो गया है. सिख समुदाय इसे बर्दाश्त नहीं करेगा. ऐसे अधर्मियों के खिलाफ अगर कार्रवाई नहीं की गई तो यह हमारे लिए जीवन-मरण का प्रश्न हो जाएगा.’ जम्मू में प्रदर्शनकारियों ने कहा कि गुरु ग्रंथ साहिब को अपवित्र किए जाने के पीछे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आएएस) और बीजेपी के लोगों का हाथ है, जो पंजाब की गठबंधन सरकार का हिस्सा हैं. बता दें कि पिछले दिनों पंजाब के कोटकपूरा के गांव बरगाड़ी में धर्मग्रंथ को खंडित करने की अफवाह के बाद माहौल तनावपूर्ण हुआ था.
 
पुस्तक फाड़ने की वजह से खफा लोगों ने वहां मोगा-बरनाला रोड जाम कर जबर्दस्त प्रदर्शन किया था. इस दौरान रोड पर की गई पुलिस कार्रवाई से भी लोग नाराज हुए.