वाराणसी. बनारस में दुर्गा पूजा के दौरान मूर्ति विसर्जन के लिए प्रशासन ने गंगा घाट पर सरोवर बनवाया और उसमे गंगाजल भरे गए हैं. संत समाज और अधिकारियों की मौजूदगी में सरोवर का पूजन होगा. सरोवर में दो पंप लगाए गए हैं जबकि 25 हजार बालू की बोरियों से इसे तैयार किया गया है. इसके किनारे प्लेटफार्म भी बनाए गए हैं.  निर्माण कार्य सिंचाई विभाग की  निगरानी में हो रहा है.
 
 
दरअसल इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि इस साल मूर्तियों का विसर्जन किसी भी कीमत पर गंगा और यमुना में नहीं होना चाहिए. मूर्तियों के विसर्जन के लिए तालाब या कोई दूसरे वैकल्पिक इंतजाम होने चाहिए. इतना ही नहीं वैकल्पिक जगहों पर बिजली-पानी, सुरक्षा और सफाई के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए.
कोर्ट के आदेशों पर गणेश मूर्ति विसर्जन रोकने वाले प्रशासन पर अब दुर्गा पूजा के दौरान दुर्गा मूर्ति विसर्जन रोकने की भी जिम्मेदारी होगी.
 
पिछले दिनों वाराणसी में गणेश मूर्ति विसर्जन के दौरान साधु संतों पर लाठी चार्ज हुए थें. जिसके चलते तनाव हुआ था और वाराणसी में कर्फ्यू लगा दिए गये थें.