नई दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले शनिवार को उनकी रैली के लिए चार एकड़ खड़ी फसल काटने का मामला सामने आया है. सूत्रों के मुताबिक राहुल की रैली के लिए कर्नाटक के रैनबेन्नूर के एक गांव के खेत में एक मंच बनाया जाना था, जिसके लिए एक किसान की चार एकड़ में लगी मक्के की फसल को बर्बाद कर दिया गया.
 
डेक्कन क्रॉनिकल की खबर के अनुसार किसान ने सूखे का जिक्र करते हुए अपनी खेत देने का फैसला किया और इलाके के कई किसान भी ऐसा कर रहे हैं. यह रैली 10 अक्टूबर को होने वाली है.
 
रैली से पहले नौ किलोमीटर की पदयात्रा भी प्रस्तावित है.सूत्रों के मुताबिक इस मामले में कांग्रेस जहां किसान के कांग्रेस समर्थक होने की वजह से जमीन देने की बात कर रही है. वहीं बीजेपी ने इस मामले को लेकर कहा कि पहले राहुल किसानों की फसल बर्बाद करते हैं फिर परिवार को सांत्वना देने जाते हैं हैं.
 
इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने आलोचना करते हुए ट्वीट किया, ‘कर्नाटक के एक गरीब किसान ने राहुल की रैली के लिए बने मंच की खातिर अपनी खून-पसीने से उगाई हुई फसल को खो दिया.’