नई दिल्ली. यूपी पुलिस की लापरवाही की घटना किसी से छुपी नहीं है. ताजा मामला मेरठ का है, जहां आगामी पंचायत चुनाव को लेकर पुलिसवालों की एक मीटिंग बुलाई गई थी.
 
यहां मेरठ पुलिस लाइन में ज़िले के सभी थानेदारों और दरोगाओं को राज्य में बढ़ते क्राइम और पंचायत चुनाव को देखते हुए बुलाया गया ताकि वह इस मामले में कोई ठोस योजना दें, लेकिन यहां एक या दो नहीं बल्कि ज्यादातर पुलिसवाले सोते दिखें. जब इस मामले पर वरिष्ठ अधिकारियों से पूछा गया तो वे ज्यादातर जवाब देने से बचते दिखें.