पटना. बिहार चुनाव में जातिवाद और विकास के मुद्दों के बीच शिक्षा और बुनियादी सुविधा भी केंद्र में है. इसी का जायजा लेने इंडिया न्यूज की टीम शो ‘चुनावी चौराहा’ के लिए आरा पहुंची. यहां लोगों ने महिला सुरक्षा को प्रमुख मुद्दा बनाया है.

आरा की सीट पिछले 15 सालों से भाजपा के कब्जे में रही है.1995 तक इस सीट पर लोकदल, कांग्रेस, जनता दल समेत अन्य दलों का कब्जा रहा है. 2000 में आरा की सीट पर पहली बार बीजेपी को जीत मिली.

तब से लेकर अब तक के सभी विधानसभा चुनावों में बीजेपी और अमरेन्द्र प्रताप सिंह दोनों अपनी जीत का परचम लहराने में सफल रहे हैं. इस बार भी अमरेन्द्र प्रताप सिंह को ही यहां से टिकट दिया गया है.

वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: