लखनऊ. परिवार द्वारा सनातन संस्था पर लगाए जा रहे आरोपों के खिलाफ यूपी के भदोही की रहने वाली दो बहनें सामने आ चुकी हैं. प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए संस्था की तरफ से दोनों ने स्वीकार कर लिया है कि संस्था ने उन्हें सम्मोहित नहीं किया है और वह अपनी मर्जी से इस संस्था में रह रही हैं.
 
बीते दिनों परिवारवालों ने संस्था पर आरोप लगाया था कि संस्था ने सम्मोहन के जरिए लड़कियों को फंसाय़ा और अब उन्हें घर नहीं जाने दिया जा रहा है. 
 
बहनों ने सुनाई आप बीती
संस्था का बचाव करते हुए प्रीति ने कहा कि हम लोग पूर्णरूप से स्वतंत्र हैं. हम पर घिनौना इल्जाम लग रहा है. हमें पूरे भारत में रहने की स्वतंत्रता है. घर से भागने और पैसे ले जाने की बात गलत है. हमें स्वतंत्र रूप से रहने दिया जाए. उन्होंने कहा कि वह अपने ही घर में बंधक की तरह रह रही थी. उनके साथ बुरा बर्ताव किया जाता था इसीलिए वह घर छोड़कर संस्था आ गई. दोनों बहनों ने कहा कि उन्हें पहनने के लिए फटे-पुराने कपड़े दिए जाते थे. घर में नौकरों जैसा बर्ताव किया जाता था.