पंतनगर. पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी से अमेरिका में मुलाकात के दौरान फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भारत में एक मंदिर का जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि वे एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स की सलाह पर भारत के इस मंदिर में गए थे. जुकरबर्ग ने इस मंदिर का नाम नहीं बताया था हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मंदिर नैनीताल के पास पंतनगर में बाबा नीम करौली के आश्रम में ही था. इसी आश्रम में 1974 में जॉब्स आए थे.
 
बता दें कि हॉलीवुड एक्ट्रेस जुलिया रॉबर्ट्स भी यहां एक बार आ चुकी हैं. आश्रम चलाने वाले ट्रस्ट ने पुष्टि की है कि जुकरबर्ग ने यहां दो दिन बिताए थे. यह साफ नहीं है कि जुकरबर्ग किस साल इस आश्रम में आए थे. द इकोनॉमिक टाइम्स और टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रस्ट के सेक्रेटरी विनोद जोशी ने बताया, “कुछ साल पहले अमेरिकी फिजिशियन और Google.org के पूर्व डायरेक्टर लैरी ब्रिलियंट ने उन्हें फोन किया था. लैरी ने बताया कि मार्क नाम का एक लड़का आश्रम आ रहा है. वह कुछ दिन रुकेगा.” हालांकि, जोशी को यह नहीं याद नहीं है कि जुकरबर्ग किस साल उनके आश्रम आए थे. उन्हें यह नहीं पता था कि मार्क जुकरबर्ग कौन हैं. जोशी के मुताबिक, मार्क अपने साथ सिर्फ एक किताब लेकर आए थे. बदलने के लिए वे कपड़े भी नहीं लाए थे. जुकरबर्ग आए तो एक दिन के लिए थे, लेकिन पंतनगर में मौसम खराब हो गया.इस वजह से वे दो दिन रुके थे.