आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा जिले एक प्राथमिक स्कूल में प्राइमरी स्कूल में मिड-डे-मील खाने से करीब 90 बच्चों की हालत खराब हो गई. आनन-फानन में सभी बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है.
 
जिलाधिकारी ने पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. पुलिस के मुताबिक, जिले के उंटगिर गांव के प्राइमरी स्कूल में मिड-डे-मील का दूध पीकर एक बच्चे को खून की उल्टियां होने लगी. स्कूल के 90 बच्चों की हालत बिगड़ गई है. उन्हें पहले खेरागढ़ सीएचसी में भर्ती कराया गया, लेकिन हालत खराब होने और सीएचसी में बेड कम पड़ने पर बच्चों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है.
 
इनमें से 15 बच्चों की हालत नाजुक बताई जा रही है. बच्चों को अस्पताल पहुंचाने के लिए 15 से ज्यादा एंबुलेंस लगाई गईं. सीएचसी के डाक्टर संजय सोलंकी ने बताया कि दूध में खराबी थी. इसी वजह से बच्चे फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए. स्कूल के लिए मिड डे मील बनाने की जिम्मेदारी ग्राम प्रधान होली राम के पास है. उनका कहना है कि स्कूल में ही मिड डे मील के खाने में कोई जहरीली चीज गिर गई होगी. उनकी तरफ से कोई लापरवाही नहीं बरती गई है. उनके यहां गुणवत्ता और शुद्घता का खास ध्यान रखा जाता है.
 
उंटगिर के प्राइमरी स्कूल में कुल 250 बच्चे पढ़ते हैं. मिड डे मील में दूध पीकर 90 बच्चों के बीमार होने की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया. सूचना मिलने के बाद जिलाधिकारी पंकज यादव, एसएसपी परमिंदर सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी अस्पताल पहुंचे. जिलाधिकारी ने मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं. दूध का सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेज दिया गया है. स्कूल के शिक्षकों से पुलिस पूछताछ कर रही है. जिसने ग्राम प्रधान को दूध सप्लाई किया था, वह मौके से फरार है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है.
 
IANS