मुंबई. टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल की मुफ्त इंटरनेट यूज करने की ‘जीरो प्लान’ योजना विवादित हो गई है. दूसरी टेलीकॉम कंपनियों ने एयरटेल पर आरोप लगाया है कि इससे दूसरे यूजर्स को किसी एप के इस्तेमाल पर अधिक पैसा खर्च करना पड़ेगा क्योंकि जीरो प्लान के जरिए एयरटेल यूजर्स कई एप्लिकेशन्स को बिना किसी डेटा चार्ज के ही इस्तेमाल कर सकेंगे. यहां ग्राहक केवल उसी वेबसाइट को ब्राउज या डाउनलोड कर सकेंगे जो एयरटेल के साथ रजिस्टर्ड होंगी. इसके लिए वे वेबसाइट्स एयरटेल को पेमेंट करेंगी. एयरटेल के साथ इस प्लान में रजिस्टर होने वाली फ्लिपकार्ट पहली बेवसाइट है. यानी एयरटेल यूजर तो फ्री में फ्लिपकार्ट यूज कर पाएंगे लेकिन वोडाफोन या दूसरे सर्विस प्रोवाइडर यूजर्स के लिए यह महंगा  साबित हो सकता है.

नेट न्यूट्रेलिटी पर होगा असर

नेट न्यूट्रेलिटी ऐसा नियम है, जिसके द्वारा इंटरनेट कपंनियां और सरकार सभी यूजर्स से हर एप्लिकेशन या इंटरनेट ब्राउज करने के लिए एक ही जैसा चार्ज लेगी लेकिन ये ‘जीरो प्लान’ लागू हुआ तो आपको एप्स के लिए अलग प्लान लेना होगा. ट्राई ने फिलहाल नेट न्यूट्रेलिटी पर कोई फैसला नहीं लिया है. ट्राई ने नेट न्यूट्रेलिटी के संबंध में दूरसंचार कंपनियों से 24 अप्रैल और यूजर्स से 8 मई तक सुझाव देने के लिए कहा है.