मुंबई. भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर रघुराम राजन  द्वारा प्रमुख दरों में उम्मीद से अधिक 50 फीसदी कटौती कर बाजार को चौका देने के बाद गवर्नरराजन ने कहा है कि मंगलवार को हालांकि अधिक उदारता बरतने की बात खारिज कर दी. मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद राजन ने संवाददाताओं से हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, “मुझे नहीं पता आप मुझे क्या कहेंगे. सांता क्लाज? मैं नहीं जानता. मैं इन चीजों से प्रभावित नहीं होता. मेरा नाम रघुराम राजन है और मेरा जो काम है, मैं वही करता हूं.”
 
 
 
राजन ने कहा, “मैंने कोई दिवाली बोनस नहीं दिया है.” उन्होंने कहा कि वह स्थिति को भाप कर फैसला लेते हैं और उन बातों पर ध्यान नहीं देते, जिस पर ध्यान नहीं दिया जाना चाहिए. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के पूर्व मुख्य अर्थशास्त्री ने कहा, “मैं यह कहना चाहता हूं कि टिकाऊपन और विकास दोनों शब्द साथ-साथ चलते हैं. दोनों जरूरी हैं. इसलिए मेरे पास जो गुंजाइश थी, मैंने वह कर दिया. मैं यह स्वीकार नहीं करता कि हम आक्रामकता अपना रहे हैं.”