लखनऊ. यूपी के लोगों की जेब पर अब सिगरेट-सिगार पीना और सादा पान मसाला या खैनी खाना महंगा पड़ने वाला है. अखिलेश सरकार ने इन सामानों पर वैट की दर 25 से बढ़ाकर 40 कर दी है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लग गयी है. इससे राज्य सरकार को सालाना 200 करोड़ रुपये अधिक राजस्व मिलेगा.
 
राज्य सरकार उत्तर प्रदेश मूल्य संवर्धित कर अधिनियम 2008 (वैट) की वसूली उत्पादों पर करती है. प्रदेश में सिगरेट व सिगार पर मौजूदा समय 25 प्रतिशत के हिसाब से वैट की वसूली की जा रही थी. इसी तरह सादा पान मसाला, खैनी, जर्दा, सुर्ती व तंबाकू से निर्मित सामान पर 30 प्रतिशत की दर से वैट की वसूली की जाती थी. अब इन सभी उत्पादों पर वैट बढ़ाकर 40 प्रतिशत कर दिया है.