नई दिल्ली. दुनिया की मशहूर कार निर्माता कंपनी फॉक्सवैगन एक नए घोटाले से घिरी है. कंपनी ने मंगलवार को कहा कि उसने 1.1 करोड़ गाड़ियों में पोल्यूशन चीटिंग डिवाइस लगाईं थी. पोल्यूशन चीटिंग डिवाइस से प्रदूषण जांच के समय ये गाड़ियां चकमा दे सकती हैं. 
 
सीएनएन इंटरनेशनल में छपी खबर के मुताबिक़, फॉक्सवैगन की कार में पोल्यूशन चीटिंग डिवाइस लगाने की समस्या वैश्विक है. कंपनी के इस घोटाले के कारण कंपनी के शेयर में लगभग 20 % की गिरावट दर्ज की गई.बाडेर बैंक के ऑटोमोटिव विश्लेषक का इसके बारे में कहना है कि यह अब एक अंतर्राष्ट्रीय समस्या बन चुका है. आगे आने सालों में कंपनी की लोकप्रियता पर इससे काफी असर दिखाई देगा। कस्टमर का विश्वास जीतने के लिए कंपनी को कई साल लग जाएंगे