नई दिल्ली. अपने बयानों से ज्यादातर विवाद में रहने वाले केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री महेश शर्मा एक बार फिर अजीबों गरीब बयान देकर विवादों में फंसते नज़र आ रहे हैं. महेश शर्मा का कहना है कि लड़कियों का ‘नाइट आउट’ मारना हमारी संस्कृति में नहीं है.

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में शर्मा ने कहा, “किसी दूसरे देश में अगर लड़कियां रात में घर से बाहर जाना चाहती हैं तो वहां ये हो सकता है लेकिन भारत में इसे मंजूर नहीं किया जा सकता क्योंकि ये हमारे कल्चर में नहीं है.

इससे पहले महेश शर्मा ने दिल्ली के औरंगजेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड करने के फैसले को सही ठहराते हुए पूर्व राष्ट्रपति कलाम की मिसाल दी थी. शर्मा ने कहा था कि औरंगजेब कोई आदर्श नहीं था. एपीजे अब्दुल कलाम मुसलमान होते हुए भी एक बड़ा राष्ट्रवादी और मानवतावादी इंसान थे. बाद में सफाई देते हुए उन्होंने कहा,’ मैंने सिर्फ इतना कहा कि कलाम एक राष्ट्रवादी मुस्लिम थे’ .

नोएडा से सांसद महेश शर्मा हाल ही में दिए अपने बयानों की वजह से विपक्ष के निशाने पर रहे हैं.