मुंबई. मीट बैन के बाद महाराष्ट्र सरकार ने मराठी बोलने को लेकर नया फरमान जारी किया. महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री दिवाकर राउते ने कहा है कि राज्य में एक नवंबर से सिर्फ उन लोगों को ही ऑटो रिक्शा का परमिट मिलेगा जो मराठी बोलना जानते होंगे.
 
राउते शिवसेना कोटे से मंत्री हैं. बता दें कि यहां 70 फीसदी ऑटो चालक उत्तर भारतीय हैं. अगर यह फरमान लागू किया गया तो इनकी मुसीबतें बढ़ेंगी. इससे पहले ही महाराष्ट्र में जैन पर्व के दौरान लगातार सात दिनों के लिए मीट बैन का मुद्दा पूरे देश में गर्मा चुका है. इस मामले पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने आदेश जारी किया है कि सिर्फ दो दिन के लिए मीट बैन किया जाए.