नई दिल्ली. शीना बोरा मर्डर केस में मुंबई पुलिस ने जांच में जो तेज़ी दिखाई, उससे महाराष्ट्र की सरकार भी हैरान रह गई, लेकिन, सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां के खिलाफ शिकायतों की जांच में मुंबई पुलिस की ढीली चाल से फरियादी हलकान हैं. इंद्राणी मुखर्जी से पूछताछ करने में मुंबई पुलिस के कमिश्नर ने इतनी दिलचस्पी ली कि बवाल मच गया, लेकिन सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां से पूछताछ करने के लिए पुलिस वाले अपनी कुर्सी से हिल तक नहीं रहे.
 
 
 
सच है कि इंद्राणी पर लगा आरोप बहुत गंभीर है, लेकिन क्या सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां पर लगे इल्जाम भी इतने ही संगीन नहीं हैं. उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी देने की एफआईआर दर्ज़ है. सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां के खिलाफ सेक्स रैकेट चलाने का संगीन आरोप भी है अब मुंबई पुलिस का रवैया बड़ी बहस का मुद्दा बन गया है कि सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां के खिलाफ मुंबई पुलिस की पड़ताल सुस्त क्यों है ? क्या मुंबई पुलिस के कुछ लोग सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां को बचा रहे हैं ?