इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में सार्वजनिक जगह पर शराब पीते हुए पकड़े गए सेना के दो जवानों में एक की पुलिस ने पिटाई की तो सेना के जवानों ने थाने पर ही हमला बोलकर उसे तहस-नहस कर डाला.
 
बुधवार की रात विजयनगर थाने की पीसीआर वैन ने एक मॉल के पास सेना के दो जवानों को शराब पीते हुए पकड़ लिया था. पुलिस वालों ने इनमें से एक की पिटाई कर दी लेकिन जब पता चला कि ये सेना के जवान हैं तो समझाकर छोड़ दिया.
 
बाद में दोनों जवानों ने महू स्थित आर्मी कैंट में अपने साथियों को घटना के बारे में बताया. अगली सुबह सेना के करीब 100 जवानों ने थाने में घुसकर तोड़फोड़ कर दी.
 
सीसीटीवी के कैमरे भी उखाड़ ले गए
 
सेना के जवानों ने थाने में मौजूद पुलिस वालों को मारा जिसमें 10 से ज्यादा लोग घायल हो गए. इस दौरान सेना के जवानों ने पुलिस की गाड़ियों, वायरलेस सेट्स, कम्प्यूटर और प्रिंटर भी तोड़ दिए. आर्मी जवान थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे और रिकॉर्डर भी ले गए.
 
पुलिस अधीक्षक (पूर्वी क्षेत्र) ओपी त्रिपाठी ने बताया कि फौजी विजय नगर थाने में तड़के करीब पांच बजे घुसे और थाने के अलग-अलग कमरों में जाकर खिड़की के शीशों, कम्प्यूटरों और अन्य सामानों की जमकर तोङफोङ की.
 
डीआईजी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि जवानों के खिलाफ केस दर्ज होगा और आर्मी के वरिष्ठ अधिकारियों से इस बारे में बात की जा रही है.