नई दिल्ली. भारत-पाकिस्तान के बीच हुए 1965 युद्ध की 50 वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी. साथ ही राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी और पुष्‍प अर्पित किए.
 
इस दौरान रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और तीनों सेनाओं के प्रमुख भी यहां उपस्थित थे, जिन्‍होंने भी 1965 की लड़ाई में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी. भारत-पाकिस्तान के बीच सीमा विवाद पर जारी तनाव ने 1965 में युद्ध का रूप ले लिया था. पांच महीनों तक चली इस जंग में भारत के क़रीब 3,000 जवान शहीद हुए थे. सैनिकों ने बहादुरी का परिचय देते हुए पाकिस्तानी सेना को हर मोर्चे पर शिकस्त दी थी. बाद में संयुक्त राष्ट्र के दख़ल के बाद दोनों देश युद्धविराम पर राज़ी हुए थे. ताशकंद में दोनों देशों के बीच समझौता हुआ था.