मुंबई. बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को एक और पैरोल मिल चुका है और अब वह 30 दिनों के लिए जेल से निकलकर घर आएंगे. 1993 के बम धमाके की सज़ा काट रहे संजय दत्त को 42 महीनों की सज़ा काटनी है और वह इस वक्त पुणे की येरवडा जेल में सज़ा काट रहे हैं.
 
संजय दत्त ने अपनी बेटी की खराब तबीयत का हवाला देकर इस छुट्टी के लिए आवेदन दिया था, जिसके बाद पुणे के डिविज़नल कमिशनर एस चोकलिंघम ने दो दिन पहले संजय दत्त के पैरोल को मंज़ूरी दे दी. अब संजय दत्त जरूरी फॉर्मेलिटी को पूरा करके घर आएंगे. इस पैरोल को बाद में 60 दिनों के लिए और बढ़ाया जा सकता है यानी संजय दत्त 3 महीने तक पैरोल पर बाहर रह सकते हैं.
 
जुलाई में ही संजय दत्त ने होम डिपार्टमेंट से अनुरोध किया था डिविज़नल कमिश्नर को बताने के लिए कि डिविज़नल कमिश्नर 45 दिन में संजय दत्त के आवेदन पर अपना निर्णय ले लें. होम डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी विजय सतबीर सिंह ने मीडिया को बताया कि हमें बताया गया है की पुणे डिविज़नल कमिश्नर ने पैरोल को मंजूरी दे दी है. औपचारिकता पूरी होते ही संजय दत्त बाहर आ जाएंगे.