रांची. झारखंड की राजधानी रांची के सुदूरवर्ती इलाके में मंगलवार को नक्सलियों के एक समूह के साथ हुई मुठभेड़ में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घायल हो गया, जबकि अधिकारी के चालक और एक नक्सली कमांडर की मौत हो गई.
 
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि खूटी जिले में हुई मुठभेड़ में रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभात कुमार घायल हो गए. रांची के एक अस्पताल में उनका उपचार चल रहा है. पुलिस ने बताया कि प्रभात कुमार एक पुलिस दल के साथ इलाके में नक्सलियों के होने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद अभियान पर निकले थे.
 
झारखंड के पुलिस प्रमुख डी. के. पांडेय के अनुसार, रांची से 50 किलोमीटर दूर डुलमी गांव में स्वघोषित नक्सली कमांडर चंदन के 10 अन्य नक्सलियों के साथ होने की सूचना मिली थी. पुलिस दल जब घटनास्थल पर पहुंचा तो नक्सलियों ने उन्हें घेर लिया और उन्होंने पुलिस वाहन पर गोलीबारी शुरू कर दी. गोलीबारी में प्रभात कुमार के हाथ और सीने पर गोलियां लगीं और उनके ड्राइवर की मौत हो गई. नक्सली कमांडर चंदन को भी पुलिस दल ने मार गिराया. इसके अलावा एक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सहित तीन पुलिसकर्मी और घायल हुए हैं.
 
पुलिस ने बताया कि एक नक्सली भी घायल हुआ है. प्रभात कुमार को चिकित्सकों ने उन्हें खतरे से बाहर बताया है.पुलिस ने मृत नक्सली के पास से एक एके-47 राइफल, तीन मोबाइल फोन, कारतूस और कुछ अन्य सामान बरामद किए. मुख्यमंत्री रघुबर दास ने अस्पातल पहुंचकर रांची के एसएसपी प्रभात कुमार का हाल-चाल लिया और मृत चालक के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी घायल एसएसपी से बात की और उनकी वीरता की सराहना की.
 
IANS