अहमदाबाद. गुजरात सरकार को कठघरे में खड़े करने वाले सस्पेंड आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट को एक वीडियो में कथित तौर पर महिला के साथ नजर आने पर कारण बताओ नोटिस दिया गया है. इस वीडियो में कथित तौर पर संजीव किसी महिला के साथ नजर आ रहे हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात सरकार को एक पेन ड्राइव में 11 मिनट का वीडियो मिला था. भट्ट से इसी वीडियो पर 10 दिनों के भीतर जवाब देने को कहा गया है. 
 
भट्ट के व्यवहार को IPS के अनुरूप नहीं पाया गया
संजीव को 14 अगस्त को मिले इस नोटिस में उनसे पत्नी के अलावा दूसरी महिला से संबंध रखने पर जवाब मांगा गया है. इसमें कहा गया है, ‘भट्ट का यह व्यवहार एक आईपीएस ऑफिसर के लायक नहीं है….और यह ‘ऑल इंडिया सर्विस रूल्स’ का भी उल्लंघन है.’  
 
उधर, भट्ट का कहना है कि उन्होंने अगले दिन ही नोटिस का जवाब दे दिया था. संजीव ने इसके जवाब में कहा है कि वीडियो में दिखाई दे रहा शख्स वो नहीं, बल्कि कुछ-कुछ उनके जैसा ही दिखने वाला कोई और है.
 
फॉरेंसिक जांच में असली पाया गया वीडियो 
इस नोटिस में गुजरात के गृह मंत्रालय में अंडर सेक्रटरी एवी वाला के साइन हैं और कहा गया है कि वीडियो की गांधीनगर फॉरेंसिक लैब से जांच करा ली गई है. इस वीडियो से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है, यह असली वीडियो है.
 
हालांकि, इसमें यह नहीं लिखा गया है कि विडियो में दिखाई दे रहे शख्स संजीव भट्ट ही हैं. भट्ट ने जवाब में लिखा है कि क्लिपिंग को करीब से देखने पर उनके और वीडियो में मौजूद शख्स के चेहरे में काफी अंतर नजर आएंगे. इसमें उनकी नाक, माथे और दोनों कानों का साइज और शेप अलग-अलग है. उन्होंने कहा है कि वह अपनी बात साबित करने के लिए गुजरात या किसी भी लैब में डीटेल्ड बायॉमेट्रिक एग्जामिनेशन के लिए तैयार हैं.