गोंडाः भले ही योगी सरकार सरकारी अस्पतालों को सुधारने के लिए लाखों-करोड़ों का फंड जारी करें लेकिन डॉक्टर व अन्य स्टाफ के रवैये में बदलाव नहीं आएगा, तब तक आम लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल सकती है. यहां के महिला हॉस्पिटल की लापरवाही के चलते एक प्रसूता ने बीच सड़क पर ही बच्चे को जन्म दे दिया.
 
अस्पताल की बड़ी लापरवाही तब सामने आयी जब एक महिला प्रसव कराने के लिए जिला अस्पताल पहुंची. अस्पताल में तैनात महिला कर्मचारियों ने महिला को चेक करने के बाद उनके परिजनों से कहा कि जब महिला की प्रसव पीड़ा बंद हो जायगी तब आना लेकिन जैसे ही महिला हॉस्पिटल से बाहर सड़क पर पहुंची, उसे तेज दर्द हुआ.
 
 
वह दर्द से तड़पकर सड़क पर लेट गई और प्रसूता ने सड़क पर ही नवजात को जन्म दे दिया. इसके बाद अस्पताल में हलचल शुरू हो गई. परिजनों ने बताया कि अस्पताल की डॉक्टर व नर्स की लापरवाही से महिला की जान भी जा सकती थी. उन्होंने कहा कि डॉक्टर और नर्स के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.
 
गोंडा सीएमओ संतोष श्रीवास्तव ने कहा कि बच्चे का इलाज चल रहा है. उसको बचाने की कोशिश की जा रही है. पूरे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.