लखनऊ : बरेली के आंवला थाना अंतर्गत धन्नावाली गौटिया में पुलिस की पिटाई से एक बुजुर्ग की मौत का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि दहेज हत्या के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस ने आरोपी के नहीं मिलने पर उसके पिता की बंदूक की बटों से पिटाई की. पिटाई से बुरी तरह से घायल बुजुर्ग की मौत हो गई. घटना से नाराज ग्रामीणों ने आरोपी पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया और उनकी जमकर धुनाई की. 
 
पुलिसकर्मियों के बंधक बनाये जाने की खबर के बाद मौके पर पहुंची फोर्स ने लाठियां भांजकर ग्रामीणों को खदेड़ दिया और बंधक पुलिस वालों को छुड़ाया. वहीं इस मामले में एसपी ग्रामीण का कहना है कि आरोपी पुलिस वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरु कर दी है.
 
 
बताया जा रहा है कि दबिश के दौरान पुलिसकर्मियों ने हत्यारोपी के घर में तोड़फोड़ की. बाइक तोड़ने के बाद अंदर के कमरे का दरवाजा तोड़ने लगे, तो बुजुर्ग ने इसका विरोध किया. आरोप है कि इसी दौरान किसी ने उसके सिर पर हथियार के बट से वार कर दिया. जिससे बुजुर्ग महिला जमीन गिर पड़ी. खून की उल्टी होने के बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई.
 
बता दें कि मृतक रामचंद्र के बेटे की डेढ़ साल पहले रम्पुरा सिरौली निवासी ओमकार की बेटी ज्ञानवती से शादी हुई थी. शादी के बाद पति-पत्नी में अनबन रहती थी,पत्नी ज्यादा वक्त तक मायके में रहती थी. तीन महीने पहले ज्ञानवती ने फांसी लगा ली थी. मायके पक्ष ने रामचंद्र, उसके बेटे सूरज समेत सास पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. शुक्रवार रात करीब आठ बजे दारोगा दिलशाद, अवधेश, सिपाही ताहिर, आबिद, गौरव व भारत सिंह आरोपियों को पकड़ने के लिए उनके घर दबिश देने पहुंचे थे.