नागपुर : नागपुर के बहुचर्चित हत्याकांड कुश कटारिया हत्याकांड में दुहरी उम्रकैद की सजा भुगत रहे कैदी आयुष पुगलिया की आज सुबह तड़के नागपुर सेन्ट्रल जेल में अन्य कैदी ने बड़ी निर्ममता से हत्या कर देने से हड़कंप मच गया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार आयुष पुगलिया जब सुबह टॉयलेट गया तब किसी शातिर अपराधी ने उसके सर टाइल्स से वार कर उसकी हत्या कर दी. सिर पर टाइल्स के घातक प्रहार से आयुष की मौके पर ही मौत हो गई.  
 
आयुष गर्लफ्रेंड के शौक पूरे नहीं कर पा रहा था और उसे पैसों की जरुरत थी, इसलिए उसने कुश को किडैनेप करने का प्लान बनाया. कुश को किडनैप करने के बाद आयुष पुगलिया ने कटारिया से दो करोड़ की फिरौती मांगी थी, लेकिन फिरौती मिलने से पहले ही उसने बड़ी निर्ममता से कुश की हत्या कर दी थी.
 
नागपुर शहर के चर्चित कुश कटारिया हत्याकांड हाईकोर्ट से मिली सजा के तहत मृतक दुहरी सजा भुगत रहा था. २०१४ में कुश कटारिया इस 8 वर्षीय मासूम बालक का करोडों की फिरौती के लिए आरोपी ने अपहरण किया था. फिरौती की रकम न मिलने पर उसने मासूम कुश की हत्या कर दी. कुश के माता-पिता शहर के प्रतिष्ठित समुदाय से आते हैं. नागपुर  सेन्ट्रल जेल अचानक हुई हत्या से जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे है. आयुष को किसने मारा इसका पता अभी तक नहीं चल पाया है. पुलिस जाँच में जुटी है.
 
बता दें कि आयुष के भाई नवीन को सबूत नष्ट करने के लिए दोषी करार देते हुए कारावास की सजा सुनाई थी एवं दूसरे भाई नितिन को निर्दोष करार देते हुए बरी किया गया था.  आरोपी आयुष ने जिला कोर्ट के इस फैसले को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट के समक्ष अपील दायर की थी, लेकिन कोर्ट ने वह खारिज कर दी थी.