इंदौर. मध्य प्रदेश में दो सहेलियों ने एक साथ जहर खा कर अपनी जान दे दी है. दोनों अपनी जिंदगी से परेशान थी, जिसके बाद दोनों ने ये जिंदगी छोड़ने का फैसला किया. इनमें से एक लड़की अपने पति से अलग रह रही थी. इन दोनों ने पहले केक काटा, चाय में जहर मिलाया और फिर सेल्फी क्लिक की.
 
एक युवति कॉल सेंटर में और दूसरी कैटरिंग का काम करती थी. करीब एक महीने से दोनो एक किराए का कमरा लेकर रह रही थी. 25 वर्षीय रचना चौधरी और दूसरी 24 साल की तन्वी वास्कले ने दो दिन पहले सुसाइड की थी. पुलिस को घटना स्थल से दोनों के अलग-अलग सुसाइड नोट 27 अगस्त के मिलें हैं. आत्महत्या का पता तब चला जब दो दिन से कॉल सेंटर पर न जाने पर उसका साथी घर पहुंचा. पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शवों को बाहर निकाला और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.
 
 
पुलिस ने बताया कि इन दोनों ने चाय में जहर मिलाकर पीने से पहले रात को केक काटा, सेल्फी ली और इसके बाद अपना-अपना मोबाइल फॉर्मेट मार दिया. माता-पिता के नाम लिखे दो पेज के सुसाइड नोट में रचना ने लिखा है कि वह अपनी मौत की जिम्मेदार खुद है. जिंदगी से तंग आकर यह कदम उठा रही है. मेरे मरने के बाद शव आप घर ले जाना और मेरा एक सुहागन की तरह अंतिम संस्कार मत करना, सिर्फ बेटी की तरह करना.
 
 
दूसरी युवति तन्वी ने सुसाइड लेटर में अपने दीदी और जीजु का जिक्र किया है. तन्वी ने लिखा है कि मैं अपनी जिंदगी से परेशान होकर अपनी जान दे रही हूं. प्लीज मेरे परिवार वालों को मेरे जाने के बाद परेशान न किया जाए.