अमृतसर. अमृतसर के एक पति-पत्नी ने पाकिस्तान में रह रही भारतीय लड़की गीता को अपनी बेटी बताते हुए दावा किया है. गीता के कथित माता-पिता  राजेश कुमार और राम दुलारी ने एक अंग्रेजी अखबार से कहा है कि उन्होंने कराची के ईदी फांउडेशन को इस बारे में सूचना दी है कि गीता उनकी बेटी है.

हालांकि गीता ने दोनों को ही पहचानने से इनकार कर दिया है. गीता का कहना है कि उसकी मां साड़ी पहनती थी जबकि दावा पेश करने वाली महिला सलवार पहनती है. वहीं, पाकिस्तान ह्यूमन राइट्स ऐक्टिविस्ट अंसार बर्नी के मुताबिक वह अभी लंदन में हैं और इस बारे में जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा है कि इस मामले में डीएनए टेस्ट की मदद ली जा सकती है.

 दरअसल पाकिस्तान में रहने वाली गीता की कहानी सलमान ख़ान की फ़िल्म ‘बजरंगी भाईजान’ की मुन्नी की कहानी से मिलती-जुलती है. 10 साल से अधिक समय से पाकिस्तान में रह रही गीता न ही बोल सकती हैं और न ही सुन सकती हैं.

फिल्म के चर्चा में आने से गीता को खबर को प्रमुखता से मीडिया के कवर करने पर इस मामले में प्रगति हुई है.