नई दिल्ली.  मध्य प्रदेश के हरदा जिले में मंगलवार देर रात दो रेलगाड़ियां पटरी से उतरकर काली माचक नदी में गिर गई, जिसमें कई यात्रियों की मौत हो गई. अब तक 27 शव बरामद किए जा चुके हैं. फिलहाल राहत एवं बचाव कार्य जारी हैं. हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संवेदनाएं व्यक्त की हैं. पीएम मोदी ने कहा है कि पूरे हालात पर नजर रखी जा रही है और मौके पर हरसंभव मदद दी जा रही है.

मध्य प्रदेश में भीषण ट्रेन हादसा, 27 लोगों की मौत

रेलवे सुरक्षा कमिश्नर ने घटना के जांच के आदेश दिए हैं. वहीं रेल हादसे में पीड़ितों को मुआवजे की भी घोषणा की गई है.  रेल हादसे में मारे गए लोगों के परिवार वालों को 2 लाख रुपए देने का ऐलान किया गया है. इसके अलावा गंभीर रुप से घायल हुए व्यक्ति को 50 हजार और जिन्हें हल्की चोटें आई हैं उनको 25 हजार रुपए मुआवजा दिया जाएगा. 

रेल हादसे पर सियासत शुरू, दिग्विजय ने मांगा प्रभु का इस्तीफा

रेलवे अधिकारियों ने मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है. मुंबई से वाराणसी जा रही कामायानी एक्सप्रेस पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल-खंडवा रेल खंड पर हरदा जिले के खिरकिया रेलवे स्टेशन से गुजरने के दौरान मंगलवार देर रात दुर्घटना का शिकार हो गई. इस रेलगाड़ी के चार डिब्बे काली माचक नदी के पुल पर से गुजरते समय पटरी से उतरकर नदी के गिर गए.

एक अन्य रेलगाड़ी जनता एक्सप्रेस के दो डिब्बे भी पटरी से उतरकर नदी में गिर गए. यह रेलगाड़ी बिहार में पटना स्थित राजेंद्र नगर टर्मिनल से मुंबई जा रही थी. पश्चिम मध्य रेल्वे के भोपाल मंडल के जनसंपर्क अधिकारी आई. बी. सिद्दीकी ने बुधवार को बताया कि कामायनी और जनता एक्सप्रेस रेलगड़ियों के छह डिब्बे पटरी से उतरकर नदी में डूब गए, जिसमें कई लोगों की मौत हो गई. अब तक 27 शव बरामद किए गए हैं.

आधिकारिक तौर पर दुर्घटना की वजह नहीं बताई गई है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि यह हादसा काली माचक नदी पर बने पुल के नीचे की रेत खिसक जाने के कारण हुआ.

हादसे के बाद रेलवे की तरफ से हेल्‍पलाइन नंबर जारी किए गए हैं जो इस प्रकार हैं…
मुंबई (Mumbai)  : (022) – 25280005
भिरिंगी (Bhiringi) : (016) – 48426
भोपाल (Bhopal)  : (0755) – 4001609
हरदा (Harda)    : (+91) – 9752460088
बीना (Bina)      : (07580) – 222580
इटारसी (Itarsee)  : (07572) – 241920