नई दिल्ली. सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (CFTRI) ने मैगी के नमूनों की जांच के बाद कहा है कि ये देश की फूड सेफ्टी मानकों के हिसाब से ठीक हैं. इसी साल जून में कुछ राज्यों में मैगी पर प्रतिबंध के बाद नेस्ले कंपनी ने मैगी को मार्केट से वापस ले लिया था.

मैसूर स्थित CFTRI लैब को केंद्रीय खाद्य सुरक्षा नियामक FSSAI से मान्यता प्राप्त है. गोवा के खाद्य विभाग ने जून महीने में उत्तर प्रदेश समेत कुछ राज्यों में मैगी के बैन होने के बाद कंपनी के प्लांट से 5 नमूने जांच के लिए मैसूर भेजे थे क्योंकि FSSAI राज्यों की लैब रिपोर्ट को क्रॉस चेक कर लेना चाहता था.

गोवा के FDA निदेशक सलीम ए वेलजी ने कहा है कि जांच के नतीजे आ गए हैं और रिपोर्ट में मैगी को देश के खाद्य सुरक्षा मानकों के मुताबिक पाया गया है. जून में कुछ राज्यों में प्रतिबंधित होने के बाद FSSAI ने भी मैगी को बैन कर दिया था.

मैसूर की लैब से अच्छा रिपोर्ट कार्ड मिलने के बाद इस बात के आसार बन रहे हैं कि जल्दी ही मैगी पर लगा बैन हटा लिया जाए और बाजार में फिर से मैगी उपलब्ध हो जाए. नेस्ले कंपनी ने भी कहा है कि मैगी को वापस बाजार में लाना उसकी प्राथमिकता है.