नई दिल्ली. बक्सर के डीएम मुकेश पांडेय ने 9 अगस्त की रात आत्महत्या की थी. बीतते दिन के साथ इस केस में कई ऐसी बातें सामने आ रही है जिसकी वजह से ये उलझता चला जा रहा है. साथ ही इस केस में राजनैतिक बयान बाजी भी शुरू हो गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक बक्सर के स्थानीय विधायक मुन्ना तिवारी ने आईएएस मुकेश पांडेय की आत्महत्या की सीबीआई जांच करवाने की मांग की है.
 
मुन्ना तिवारी ने मीडिया को बताया कि एक कामयाब आईएएस आत्महत्या कैसे कर सकता है ? मुकेश की आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या हुई है. जिसकी सीबीआई से जांच करवानी चाहिए. बता दें कि विधायक मुन्ना ने ये तक दावा किया है कि एक दिन पहले टेलीफोन पर उनकी मुकेश से बात हुई थी और उनसे बातचीत में ऐसा नहीं लग रहा था कि वो डिप्रेशन में हैं. 
 
 
 
गौरतलब है कि बिहार बक्सर के जिलाधिकारी मुकेश पांडेय ने गुरुवार को आत्महत्या कर ली. 2012 बैच के आईएएस मुकेश पांडेय का शव गाजियाबाद रेलवे स्टेशन से कुछ दूरी पर रेलवे ट्रैक से बरामद किया गया है.2012 बैच के आईएएस अधिकारी मुकेश पांडेय को 31 जुलाई को ही बक्सर का डीएम बनाया गया था. बतौर जिलाधिकारी यह उनकी पहली पोस्टिंग थी.