Hindi state Ghatkopar‬, Residential Building Collapse in Ghatkopar, Building collapse‬, Brihanmumbai Municipal Corporation, BMC, shivsena leader, Mumbai, India News http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/ghatkopar_0.jpg

मुंबई : घाटकोपर बिल्डिंग मामले में सामने आई अहम CCTV फुटेज

मुंबई : घाटकोपर बिल्डिंग मामले में सामने आई अहम CCTV फुटेज

    |
  • Updated
  • :
  • Friday, August 11, 2017 - 15:13

cctv footage before Ghatkopar building collapse

मुंबई : घाटकोपर बिल्डिंग मामले में सामने आई अहम CCTV फुटेजcctv footage before Ghatkopar building collapseFriday, August 11, 2017 - 15:13+05:30
मुंबई : 25 जुलाई को मुंबई में हुए बिल्डिंग हादसे की एक अहम सीसीटीवी फुटेज सामने आई है, चार मंजिला इमारत भरभराकर गिर गई थी इस हादसे में 17 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी जबकि 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने बीएमसी आयुक्त को 15 दिनों के भीतर जांच करने और रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया था.
 
पहली सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा है कि इस हादसे से ठीक चार मिनट पूर्व शिवसेना नेता सुनील शिताप बिल्डिंग से बाहर आए और अपनी कार में बैठकर वहां से चले गए. घाटकोपर में 25 जुलाई को जो इमारत ढह गई थी, बिल्डिंग के पास लगे दूसरे इमारत के सीसीटीवी कैमरे में इमारात गिरने से पहले की अफरातफरी भी रिकॉर्ड हुई है.
 
 
गौरतलब है कि इस बिल्डिंग को BMC द्वारा छह महीने पहले ही खाली करने का नोटिस दिया गया था. राज्य के गृह निर्माण मंत्री प्रकाश मेहता ने BMC को आदेश दिए की मुंबई के सभी जर्जर बिल्डिंग का स्ट्रक्चरल ऑडिट जल्द से जल्द किया जाए. बता दें कि  बिल्डिंग के नीचे सितप का नर्सिंग होम था जिसे उन्होंने तीन महीने पहले ही खाली कर दिया था लेकिन वहां वह एक होटल बनाना चाहते थे लेकिन दो फ्लैटों को जोड़ने वाला पिलर बीच में आने से मुश्किलें पैदा हो रही थी जिसके कारण पिलर को काट दिया गया.
First Published | Friday, August 11, 2017 - 15:13
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.