कोलकाता. पश्चिम बंगाल में रविवार को विभिन्न जिलों में सात और लोगों की मरने की खबर आने के बाद भारी बारिश और बाढ़ से होने वाली मौतों की कुल संख्या 50 से अधिक हो गई है. पुलिस के मुताबिक, रविवार को उत्तर परगना के बारासात में बिजली गिरने से चार बच्चों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

रात भर बारिश होने से कई इलाकों में कमजोर मकान ढह गए हैं. बारिश से राज्य के 12 जिलों में बाढ़ आ गई है और करीब दो लाख मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं. इसके कारण एक लाख से अधिक लोग बेघर हो गए हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विभिन्न जिलों के अधिकारियों से मुलाकात की है और उत्तर बंगाल का दौरा फिलहाल रद्द कर दिया है.

सीएम बनर्जी ने कहा, ‘कई जिले प्रभावित हुए हैं, जिनमें उत्तर और दक्षिण 24 परगना, मुर्शिदाबाद, बर्दवान और हावड़ा शामिल हैं. आपदा प्रबंधन दल युद्धस्तर पर काम कर रहा है.’ उन्होंने कहा कि 2.10 लाख हेक्टेयर से अधिक खेतों में फसल चौपट हो गई है. बनर्जी ने कहा, ‘प्रशासन की पूरी मशीनरी प्रभावितों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है और मेरा सभी राजनीतिक पार्टियों और गैर सरकारी संगठनों से अनुरोध है कि वे राहत कार्य में मदद करें.’