छिंदवाड़ा : मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में शुक्रवार के दिन अदालत में पेशी के लिए लाए गए विचाराधीन कैदी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. मरने वाला शख्स बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के छिंदवाड़ा शहर का पूर्व अध्यक्ष इकलाख कुरैशी था. पुरानी रंजिश के चलते शिवसेना नेता नरेंद्र पटेल के गुट के आदमियों ने इकलाख के गर्दन के पास तीन गोलियां मारकर उसकी हत्या कर दी.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी नेता इकलाख पर शिवसेना नेता नरेंद्र पटेल ने जानलेवा करने का आरोप लगाया था. इसी मामले में शुक्रवार को इकलाख को सेशन कोर्ट में पेश होना था, लेकिन पेशी से पहले ही नरेंद्र पटेल के आदमियों ने इकलाख पर गोलियां दाग दी.
 
 
पुलिस ने मौके पर ही गोली चलाने वाले आदमी प्रशांत साहू और धर्मेंद्र मालवी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने जानकारी दी है कि हत्या करने वाले दोनों ही व्यक्ति नरेंद्र पटेल के आदमी थे. इस घटना के बाद सबसे बड़ा सवाल सुरक्षा व्यवस्था पर खड़ा हो रहा है कि आखिर कोर्ट परिसर के अंदर कोई व्यक्ति बंदूक लेकर कैसे पहुंच गया.
 
घटना के तुरंत बाद शहर में अफरा-तफरी मच गई, पूरे शहर में लोगों ने तोड़फोड़ शुरू मचा दी, जिसके बाद पुलिस प्रशासन को माहौल को नियंत्रित करने के लिए शहर में धारा 144 लागू करनी पड़ी. सभी दुकानों को बंद करवा दिया गया है. सांप्रदायिक तनाव बढ़ते देख शहर के हर इलाके में पुलिस की तैनाती कर दी गई है.