Hindi state Build toilets, Coffee with DM. Barmer collector, Shiv Prasad Nakate, open defecation free, ODF, Coffee with collector, rajasthan, Barmer http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Build-toilets%2C-have-coffee-with-Barmer-collector-in-Rajasthan.jpg

राजस्थान : बाडमेर में घर में टॉयलेट बनाने के बदले ये अनोखा ऑफर दे रहा है प्रशासन

राजस्थान : बाडमेर में घर में टॉयलेट बनाने के बदले ये अनोखा ऑफर दे रहा है प्रशासन

  • By
  • |
  • Updated
  • :
  • Thursday, August 3, 2017 - 13:59
Build toilets, Coffee with DM. Barmer collector, Shiv Prasad Nakate, Open defecation free, ODF, Coffee with collector, Rajasthan, Barmer

Build toilets, have coffee with Barmer collector in Rajasthan

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
राजस्थान : बाडमेर में घर में टॉयलेट बनाने के बदले ये अनोखा ऑफर दे रहा है प्रशासनBuild toilets, have coffee with Barmer collector in RajasthanThursday, August 3, 2017 - 13:59+05:30
बाडमेर : बाड़मेर जिला कलेक्टर ने खुला शौच मुक्त (ओडीएफ) बनाने के लक्ष्य के साथ एक योजना शुरू की है, जिसके तहत जो भी ग्रामीण अपने घर में शौचालय बनाता है और इसे नियमित रूप से उपयोग करता है, उसे कलेक्टर के साथ कॉफी पाने का मौका मिलेगा. इसके अलावा डीएम खुद उसे जिला मुख्यालय में सम्मानित करेंगे. 
 
बाड़मेर कलेक्टर शिव प्रसाद नाकाते के अनुसार उन्होंने 17 दिसंबर तक जिले को पूरी तरह से ओडीएफ बनाने का लक्ष्य रखा है. वह ग्रामीणों से शौचालय बनाने और उन्हें इस्तेमाल करने के लिए चौपाल में अनुरोध करते हैं. आंकड़ों के अनुसार बाड़मेर में 489 ग्राम पंचायतों में से अभी तक केवल 173 ओडीएफ हैं. उन्होंने कहा कि 15 अगस्त तक, दो पंचायत समिति, बट्टू और गिडा, ओडीएफ बन जाएंगे. पतिदु और शिर्डी पंचायत समिति इसके बाद इस कैटेगरी में शामिल होंगे.
 
डीएम ने बताया कि पंचायत में जहां पानी की समस्या है, मनरेगा के तहत वहां पानी के टैंकों और भंडारण सुविधाओं के निर्माण की मंजूरी दी गई है. नाकाते ने कहा कि उन्होंने  योजना शुरू कर दी है, जिसके तहत किसी भी गाँव में शौचालय तैयार किया जाता है और नियमित रूप से इसका इस्तेमाल किया जाता है.
 
नाकाते ने कहा कि गांव वाले को सम्मान के साथ देखा जाएगा जो दूसरों को प्रेरित करेगा. इसके अलावा, शौचालयों का उपयोग सुनिश्चित करने के लिए, पहले से ही एक योजना बाड़मेर में चल रही है जो कि बट्टू और गीदा पंचायत समितियों के लाभार्थियों को प्रोत्साहन देती है. कुछ समय पहले केयर्न ऑयल एंड गैस और ग्रामीण विकास संगठन ने योजना शुरू की थी. शौचालय के उपयोग पर वे 2-3 महीने तक लाभार्थी के परिवार की निगरानी करते हैं. उचित उपयोगिता सुनिश्चित करने के बाद, लाभार्थी को 2,500 रुपये दिए जाते हैं.
First Published | Thursday, August 3, 2017 - 13:59
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.