लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा में मिले पदार्थ (PETN) के विस्फोटक ना होने की मीडिया में रिपोर्ट्स आने के बाद राज्य के मुख्य गृह सचिव ने सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि मीडिया में रिपोर्ट्स हैं कि आगरा फॉरेंसिक लैब में इस पदार्थ की जांच की गई है तो यह साफ किया जाता है कि आगरा में टेस्टिंग के लिए कोई पदार्थ भेजा ही नहीं गया था.
 
मुख्य गृह सचिव ने कहा, ‘मीडिया में रिपोर्ट्स हैं कि विधानसभा में पाया गया पदार्थ FSL आगरा में टेस्ट करने पर PTEN नहीं निकला. यह साफ किया जाता है कि आगरा में टेस्टिंग के लिए कोई पदार्थ नहीं भेजा गया था क्योंकि उनके पास टेस्ट करने के लिए पर्याप्त मशीनें, आदि नहीं हैं.’
 
इसके अलावा उन्होंने कहा कि 14 जुलाई को लखनऊ फॉरेंसिक लैब (SFSL) की रिपोर्ट में बताया गया है कि जो पदार्थ मिला है वह पानी में आसानी से घुल सकता है. मुख्य गृह सचिव ने इस बात की जानकारी भी दी कि फिलहाल लखनऊ SFSL में पदार्थ को लेकर दो टेस्ट इन्फ्रारेड स्पेक्ट्रम, गैस क्रोमैटोग्राफी-मास स्पेक्ट्रम हो रहे हैं जिनकी रिपोर्ट्स गुरुवार तक आएंगी.
 
बता दें कि यूपी विधानसभा में 12 जुलाई को 150 ग्राम का एक सफेद पदार्थ मिला था जिसे लखनऊ फॉरेंसिक लैब ने जांच में PETN विस्फोटक बताया था, लेकिन मीडिया में ये रिपोर्ट्स आई थीं कि जो पदार्थ मिला है उसे आगरा फॉरेंसिक लैब भेजा गया था जहां टेस्ट में पता चला था कि पदार्थ PETN विस्फोटक नहीं है.