लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा के अंदर से PETN नाम का शक्तिशाली विस्फोटक मिलने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाई लेवल मीटिंग की. उन्होंने कहा कि विधायकों की और विधानसभा की सुरक्षा में सेंध लगाने की कोशिश की गई है, जिसने भी ऐसा किया है उसे बेनकाब किया जाएगा. 
 
सीएम योगी ने इस मामले पर एआईए जांच की मांग की है. उन्होंने कहा है कि विधानसभा के अंदर से इतना शक्तिशाली विस्फोटक मिलना गंभीर मुद्दा है, इसके लिए एनआईए जांच करे कि आखिर कौन विधानसभा के अंदर इतना विस्फोटक पदार्थ लेकर आया था.
 
यूपी सीएम ने कहा कि किसी को सुरक्षा से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दी जा सकती है. इसलिए विधान भवन में लगे हर एक कर्मचारी का पुलिस वेरिफिकेशन होगा और सभी कर्मचारियों की जांच की जाएगी. सीएम योगी ने इस मामले पर सबके सहयोग की मांग की है.
 
उन्होंने कहा कि हमें सुरक्षा को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है, कौन लोग ये विस्फोटक लेकर आए हैं इसकी जांच की जाएगी और साजिश करने वाले को बेनकाब किया जाएगा. साथ ही सीएम योगी ने सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था के लिए सबसे अनुरोध किया है कि विधानसभा की कार्यवाही के समय सभी विधायकगण अपने फोन को लेकर अंदर ना आएं.
 
उन्होंने कहा है कि ऐसा सिस्टम बनाया जाए कि विधान भवन के अंदर आने से पहले विधायकगण अपना बैग और मोबाइल फोन बाहर ही रखें. ऐसा करने के लिए व्यवस्था दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि जितना विस्फोटक पदार्थ मिला है वह पूरे विधान भवन को उड़ाने के लिए काफी था. जिस किसी ने भी ये साजिश की है उसे जल्द से जल्द बेनकाब किया जाए. 
 
बता दें कि 12 जुलाई को नेता विपक्ष की कुर्सी के पास से सफेद पाउडर मिला था, फॉरेंसिक जांच में इसके विस्फोटक होने की पुष्टि हुई है. यह विस्फोटक पदार्थ समाजवादी पार्टी के विधायक की सीट के नीचे पाया गया था. पदार्थ मिलने के बाद से ही विधानसभा की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी.