जयपुर: गैंगस्टर आनंपाल सिंह का आज नागौर में अंतिम संस्कार कर दिया गया है. पिछले 19 दिनों से आनंदपाल का शव डीप फ्रीजर में रखा गया था. परिवार वालों ने आंनदपाल के एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए सीबीआई जांच की मांग पर अड़े थे.
 
इसी मांग को लेकर वे पिछले 19 दिनों से आंनदपाल के शव को अपने घर पर रखकर धरने पर बैठे हुए थे. बुधवार को राज्य के राजपूतों ने आनंदपाल के एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए सीबीआई जांच की मांग को लेकर नागौर के सांवराद गांव में रैली किया था. इस दौरान पुलिस की गई गाड़ियों में आगजनी की घटना को भी अंजाम दिया था. हिंसा के बाद नागौर, चुरू, सीकर और बिकानेर में धारा 144 लगा दी गई थी. गुरुवार तक चारों जिलों में इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी है. 
 
 
बता दें कि आनंदपाल राजस्थान का कुख्यात गैंगस्टर था. वह सितंबर 2015 से ही फरार चल रहा था. पिछले महीने 24 जून को राजस्थान पुलिस ने चुरू जिले के मलसार गांव में आनंदपाल को एनकाउंटर में मार गिराया. जिसके बाद से आनंदपाल के परिजन और राजपूत समुदाय पुलिस मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए घटना की सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे.