मंडला : मध्य प्रदेश की सरकार भले ही विकास के कई दावे करे, लेकिन सच तो ये है कि दूर दराज के गांव आज भी विकास की मुख्य धारा से कोषों दूर हैं. ऐसा ही एक गांव है मंडला जिले का हिरदेनगर जहां पर आज भी बच्चे अपनी जान जोखिम में डाल कर स्कूल जाने पर मजबूर हैं.
 
बच्चों को स्कूल जाने के लिए उफनती नदी पार करनी पड़ रही है. जिसके लिए वह लकड़ी की नाव का सहारा लेते हैं और रोज ही अपनी जान जोखिम में डाल कर बच्चों को नदी पार करनी पड़ती है. कारण यह है कि इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं है नदी पार करने का.
 
नदी पर पुल का निर्माण नहीं हुआ है. बच्चे रोज ही नाव के सहारे नदी पार करते हैं, लेकिन ना तो सरकार और ना ही सरकारी महकमे ने बच्चों की इस परेशानी की तरफ ध्यान दिया है. लोग सालों से पुल का निर्माण करवाने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार ने आज तक इस बात की सुध नहीं ली है. 
 
करीब आधा दर्जन गांवों के बच्चों को स्कूल जाने के लिए खतरनाक तरीका अपनाना पड़ रहा है. ताकि वे पढ़ लिखकर अपना भविष्य बना सकें.