नई दिल्ली. विहिप नेता साध्‍वी प्राची ने एक बार फि‍र विवादित बयान दिया है. साध्वी प्राची ने इस बार मुस्लिम धार्मिक शिक्षण संस्थान और उनकी इबादतगाहों पर निशाना साधा है. साध्वी ने कहा, ‘यूपी के मदरसे और मस्‍जिदें हथियारों के जखीरा का केंद्र हैं. मदरसों में कट्टरवाद की शि‍क्षा दी जाती है, जिससे आतंकवाद पनप रहा है. मदरसों के मामले में महाराष्ट्र सरकार ने बहुत ही सराहनीय काम किया है, ये काम पूरे देश में होना चाहिए.’
 
साध्वी प्राची लगातार अपने विवादित बयानों की वजह‍ से चर्चा में बनी रहती हैं. अभी मंगलवार को ही साध्वी प्राची ने यूपी के कैबिनेट मंत्री और सपा नेता आजम खान को सबसे बड़ा देशद्रोही करार दिया था. उन्होंने कहा था,”आजम खां हिंदू विरोधी होने के साथ ही हिंदुस्तान विरोधी गतिविधियों में संलिप्त ताकतों का समर्थन करते रहे हैं.”
 
साध्वी यहीं नहीं रुकीं. वह बोलीं कि प्रशासन को कांवर यात्रा में व्यवधान पैदा करने से बाज आना चाहिए. उन्होंने प्रशासन को चेतावनी दी कि जब एक जाति विशेष के लिए लाउडस्पीकर पर प्रतिबंध नहीं है, तो कांवरियों के डीजे पर क्यों प्रतिबंध है. यदि इस बार प्रशासन ने कांवरियों के साथ छेड़छाड़ की तो ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा.