भोपाल. उज्जैन में भारी बारिश की वजह से महाकाल मंदिर के गर्भगृह में भी पानी घुस गया है. भस्म आरती के समय ज्योतिर्लिंग पानी में डूबा रहा. शिप्रा नदी रौद्र रूप दिखा रही है और पिछले दो दिनों से बड़े पुल ऊपर से बह रही है उज्जैन में नौ साल में पहला मौका है जब शिप्रा का पानी लगातार बड़े पुल पर बना हुआ है.

उज्जैन में शनिवार से लगातार बारिश हो रही है. बादलों के तांडव से अब विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का भी जलाभिषेक हुआ है. मंगलवार तड़के भस्म आरती के वक्त गर्भगृह पानी से लबालब भरा हुआ था. पुजारियों ने पानी में खड़े रहकर ही सदियों से चली आ रही भस्म आरती की परंपरा को पूरा किया.
भस्म आरती में शामिल होने आए लोगों को भी भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. मंदिर प्रबंधन गर्भगृह और मंदिर परिसर में भरे पानी को निकालने की कवायद में जुटा हुआ है. दो दिन पहले भी नंदी हॉल में पानी घुस गया था. महाकाल मंदिर के आसपास का इलाका भी पानी में डूबा हुआ है और शिप्रा अपना रौद्र रूप दिखा रही है.